रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है - Raksha Bandhan Kab Aur Kyu Manaya Jata hai

आप सभी को रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनाये ! हमारा महान भारत देश अनेकताओ में एकता के लिए प्रसिद्ध है, यहाँ के सभी लोग एक दुसरे के साथ मिलजुलकर खुशिया और उल्लास के साथ रहते है. हमारे देश को त्योहारों का देश भी कहा जाता है। त्यौहार हमारी जिंदगियो में एक नई उमंग लेकर आता है। हम साथ में मिलकर होली, दिवाली, दशहरा जैसे  कई त्यौहार बनाते है, और उन्ही त्योहारों में से एक है रक्षा बंधन।
Raksha bandhan kyu manaya jata hai

रक्षा बंधन एक बोहोत ही पावन और मनमोहक त्यौहार है. इसे अमीर-गरीब, दुनिया के हर एक कोने के लोग बनाते है. रक्षा बंधा एक हिन्दू त्यौहार है फिर भी बिना किसी भेद भाव के अन्य धर्मो के लोग भी इसे पुरे जोश और उल्लास के साथ बनाते है. यह एक बोहोत अच्छी बात है, यह हमारे बीच के प्यार को दर्शाता है. आज हम आप सभी को रक्षा बंधन से जूरी जानकारी जैसे की - Raksha Bandhan Kyu Manaya Jata hai, Raksha Bandhan ka इतिहास तथा इससे जूरी छोटी से बड़ी सारी जानकारी आपको प्रदान करेंगे.

 तो तैयार हो जाइए ज्ञान के एक अदभुत सफ़र के लिए - 

रक्षा बंधन का अर्थ क्या है - (Raksha Bandhan In Hindi)

रक्षा बंधन संस्कृत के दो शब्दों 'रक्षा' तथा 'बंधन' से मिलकर बना है. अर्थात इसका अर्थ होता है "एक ऐसा पवित्र बंधन जो की रक्षा प्रदान करे"।
यह भाई- बहन के बिच के पवित्र रिश्ते के प्रतिक होते है. यहां ये केवल खून क रिश्ते को ही नही बल्कि मन के पवित्र रिश्ते को भी दर्शाता है.

राखी क्या होता है - What is Rakhi

राखी एक पवित्र धागा होता है. भारतीय और हिन्दू परम्परा के अनुसर ये धागा का छोटा सा टुकरा लोहे से भी ज्यादा मजूत होता है. ये भाई बहन के बिच के प्यार और विश्वास को दर्शाता है. 

रक्षा बंधन त्यौहार क्यों मनाया जाता है - Raksha Bandha Kyu Manaya Jata Hai

रक्षा बंधन कब और क्यों मनाया जाता है

यह सवाल की बंधन क्यों मनाया जाता है, आप लोग के बोहोत से लोगो के दिमाग में आता होगा तो चलिए पता करते है की रक्षा बंधन को आखिर कार क्यों मनाया जाता है.
यह त्यौहार भाइयो बहनों के बीच के प्यार को बढाने के लिए तथा भाइयो को बहनों के प्रति  अपनी जिम्मेदारी और कर्त्तव्य याद दिलाने के लिए भी मनाया जाता है.
इस त्यौहार की उत्पति कैसे हुई और सबसे पहले इस पावन त्यौहार को किसने मनाया चलिए जानते है.

रक्षा बंधन की शुरुवात कैसे हुई - Origin of Raksha Bandhan 

यूं तो रक्षा बंधन के शुरुवात से सम्बन्धित कई सारी कहानियाँ प्रचलित है. उन्ही में से कुछ कहानियाँ आज में आप सभी के बतलाने वाला हूँ.

गणेश जी और संतोषी माँ से संबंधित कहानी 

भगवान गणेश जी के दो पुत्र थे, शुभ और लाभ. वैसे तो वो दोनों काफी खुश रहते थे परन्तु उनको एक बहन की कमी बोहोत महसूस होती थी. इसी के उपरान्त उन दोनों ने मिलकर गणेश जी से एक बहन की ज़िद की.
कुछ समय बाद नारद जी ने भी इस संधर्भ में गणेश जी से बात की. जिसके फल स्वरुप गणेश जी ने अपनी शक्ति से संतोषी माँ को उत्पन किया. जिससे शुभ और लाभ को एक बहन की प्राप्ति हुई और उन्होंने मिल कर राखी के त्यौहार को मनाया.

रक्षा बंधन का इतिहस - History of Raksha Bandhan

एक लोककथा के अनुसार मृत्यु के देवता यम अपनी बहन यमुना से मिलने के लिए 12 साल तक नही गए थे।
इससे यमुना जी को बोहोत दुख हुआ, फिर इस बात की खबर गंगा जी के पास गई। गंगा जी ने इसके उपरांत यम जी से बात करी। उसके बाद यम जी अपनी बहन यमुना जी से मिलने गए जिसपर यमुना जी काफी खुश हुई और उन्होंने यम जी का काफी ख्याल रखा।
इस पर यम जी अत्यंत खुश हुए और उन्होने यमुना जी से जो चाहिए वो माँगने को कहा, जिसपर उन्होंने कहा मुझे आप से बार बार मिलना है।
यम जी ने उनकी यह इच्छा पूरी कर दी, जिससे वो अमर हो गयी और हमेशा यम जी से मिल सकी।

रक्षा बंधन से सम्बंधित कुछ प्रमुख कहानिया - Famous Stories Related To Raksha Bandhan

लोगो की रक्षा के लिए श्री कृष्णा को दुष्ट  राजा शिशुपाल का खात्मा करना पड़ा. इसमें उनकी ऊँगली में काफी चोट आ गयी जिसको देखकर द्रोपती ने अपने वस्त्र का उपयोग कर उनके खून को रोक  दिया . इससे  श्री कृष्ण काफी खुश हुए. फिर उन्होंने साथ में मिलकर रक्षा बंधन मनाया तथा श्री कृष्ण ने द्रोपती की रक्षा करने  का वादा  किया.

फिर जब कुछ वर्षो बाद कुरु की सभा में कोरोवो ने द्रोपती का चिर हरण करने  की कोशिश की तो उस समय भगवान श्री कृष्ण ने उनकी रक्षा की और उनकी सम्मान को बचाए रखा.


रक्षा बंधन और कहा कहा मनाया जाता है 

रक्षा बंधन वैसे तो मुख्य रूप से हिन्दू समाज का पर्व है पर इसके बावजूद इसे दुनिया के कोने कोने में मनाया जाता है।

रक्षा बंधन कब बनाया जाता है

रक्षा बंधन श्रावण के महिने में पूर्णिमा के दिन बनाया जाता है।

2020 में रक्षा  बंधन कब है 

इस वर्ष 2020 में रक्षा बंधन 3 August 2020 यानि की सोमवार को है.

आने वाले कुछ सालो में रख्सा बंधा कब बनया जायेगा 

आने वाले सालो में रक्षा बंधा इन तारीखों को माने जायेगा-
१५ अगस्त २०१९ गुरूवार
३ अगस्त २०२० सोमवार
२२ अगस्त २०२१ रविवार
११ अगस्त २०२२ गुरूवार
३० अगस्त २०२३ बुधवार


रक्षा  बंधन से समंधित कुछ सुविचार

रक्षा बंधन एक ऐसा त्योहार है जिसमें भाई बहन की रक्षा की कसम खाते है।

 भाई और बहन इतने करीब होते ह जितने हाथ और पैर।

रक्षा बंधन स्टेटस इन हिंदी 

मैन अपनी आत्मा को ढूंढा, लेकिन में अपनी आत्मा ढूंढ नही पायी । मैन अपने भगवान को खोजा, लेकिन में भगवान से भी मिल न सकी । मैंने अपने भाई को देखा और मुझे तीनो मिल गए ।

 

डिजिटल काल में रक्षा बंधन का रूप 

आज के समय मे जब हर तरफ लोग सिर्फ अपने बारे में सोचते है और अपनों को भूलते जा रहे है, ऐसे समय इन जैसे त्योहार ही हमे आपस मे मिलकर रहना और दूसरों का सम्मान करना सिखाता है। 
मुझे उम्मीद है कि आपको आज काफी सारी नई चीज़े जानने और सीखने को मिली होगी। 
एक बार फिर आप सभी को रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनाएँ ।
मेरा देश। मेरा गर्व । मेरा कर्तव्य





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां